DSSSB 2020 Hindi Grammar Questions: 4th February 2020

Hindi Important Questions

निर्देश (प्रश्न संख्या 1-5 के लिए)- नीचे दिये गये पद्यांश को पढ़ कर इन प्रश्नों के लिए उत्तर दीजिये-

अस्ताचल रवि, जल छल – छल छवि
स्तब्ध विश्वकवि, जीवन उन्मन
मन्द पवन बहती सुधि रह रह
परिमल की कह कथा पुरातन

दूर नदी पर नौका सुन्दर
दीखी मृदु तर बहती ज्यों स्वर
वहाँ स्नेह की प्रतनु देह की
बिना गेह की बैठी नूतन

ऊपर शोभित मेघ सत्र सित
नीचे अमित नील जल दोलित
ध्यान-नयन मन चिन्त्य-प्राण-धन
किया शेष रवि ने कर अर्पण

Q1. इस कविता का सार्थक शीर्षक हो सकता है-
(a) दिवस का अवसान
(b) दिवा-गमन
(c) अस्ताचल रवि
(d) रवि कर अर्पण

Q2. इस कविता में छायावादी कवि निराला ने –
(a) प्रकृति का मनारम चित्रण किया है।
(b) अस्तगत सूर्य और उसकी प्रतीक्षा में रत संध्या का वर्णन किया है।
(c) मादक भावनाओं की अभिव्यक्ति की है।
(d) सूर्यास्त का चित्रण किया है।

Q3. इस पद्याशं में प्रयोग किया गया शब्द ‘प्रतनु’ अर्थ रखता है-
(a) प्रमुदित
(b) क्षीण
(c) मृत
(d) प्रेत

Q4. पण्डित निराला हिन्दी के –
(a) श्रेष्ठ साहित्यकार थे
(b) लेखक तथा कवि दोनों थे
(c) समाजवादी कवि थे
(d) प्रख्यात तथा सर्वोकृष्ट छायावादी कवि थे

Q5. उपर्युक्त पद्य में प्रयुक्त गेह शब्द का प्रयोग अर्थ रखता है-
(a) गेहूँ
(b) एक जीव
(c) घर
(d) द्वारा

Q6.’जहाँ उपमेय में अनेक उपमानों की शंका होती हैं, वहाँ कौन-सा अलंकार होता है ?
(a) यमक
(b) श्लेष
(c) भांतिमान
(d) संदेह

Q7. ‘जहाँ बिना कारण के कार्य का होना पाया जाय वहाँ कौन सा अलंकार होता है?
(a) विरोधाभास
(b) विशेषोक्ति
(c) विभावना
(d) भांतिमान

Q8. कमलनयन में कौन-सा समास है?
(a) तत्पुरुष समास
(b) द्विगु समास
(c) बहुब्रीहि समास
(d) द्वन्द्व समास

Q9. हानि-लाभ में कौन-सा समास है?
(a) द्विगु समास
(b) तत्पुरुष समास
(c) बहुब्रीहि समास
(d) इनमें से कोई नहीं

Q10. जय पराजय में कौन-सा समास है?
(a) अव्ययीभाव
(b) बहुब्रीहि
(c) द्वन्द्व
(d) द्विगु

Solutions

S1. Ans.(c)
Sol. दिये गये कविता का सार्थक शीर्षक ‘अस्ताचल रवि’ हो सकता है।

S2. Ans.(b)
Sol. इस कविता में छायावादी कवि निराला ने अस्तगत सूर्य और उसकी प्रतीक्षा में रत संध्या का वर्णन किया है।

S3. Ans.(b)
Sol. इस पद्यांश में प्रयोग किया गया शब्द ‘प्रतनु’ क्षीण का अर्थ रखता है जिसका तात्पर्य कमजोर/दुर्बल से है।

S4. Ans.(d)
Sol. सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला हिन्दी के प्रख्यात तथा सर्वोकृष्ट छायावादी कवि थे।

S5. Ans.(c)
Sol. उपर्युक्त पद्यांश में प्रयुक्त ‘गेह’ शब्द का अर्थ घर है।

S6. Ans.(d)

S7. Ans.(c)

S8. Ans.(c)

S9. Ans.(d)

S10. Ans.(c)

Get free Study Material for Teaching Exam

You may also like to read :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *