Hindi Study Notes on वर्णों का  उच्चारण स्थान for CTET 2020: FREE PDF

CTET 2020 Study notes

वर्णों का  उच्चारण स्थान

वर्णों का  उच्चारण स्थान

वर्ण वह छोटी ध्वनि जिसके टुकड़े या खंड न किए जाए सकें, उसे वर्ण कहते हैं। हिंदी वर्णमाला में कुल 52 वर्ण हैं, जिनमें 11 स्वर और 41 व्यंजन हैं।

वर्ण के दो भेद हैः-

  1. स्वर
  2. व्यंजन
वर्णमाला
अ आ इ ई उ ऊ ऋ ए ऐ ओ औ स्वर
अं अः अयोगवाह
क ख ग घ ड़ (कवर्ग)

च छ ज झ  (चवर्ग)

ट ठ ड ढ ण (टवर्ग)

त थ द ध न (तवर्ग)

प फ ब भ म (पवर्ग)

स्पर्श व्यंजन
य र ल व अंतःस्थ व्यंजन
श ष स ह ऊष्म व्यंजन
क्ष त्र ज्ञ श्र संयुक्त व्यंजन
ड़ ढ़ उत्क्षिप्त व्यंजन
ज़ फ़ आगत व्यंजन
  1. स्वर

जिन ध्वनियों या वर्णों के उच्चारण में अन्य वर्णों की सहायता न लेनी पड़े, उन्हें स्वर कहते हैं। स्वर के तीन भेद हैंः-

(i) ह्रस्व स्वर

(ii) दीर्घ स्वर

(iii) प्लुत स्वर

स्वरों का वर्गीकरण व उच्चारण स्थान
वर्ण नाम  उच्चारण स्थान  ह्रस्व स्वर दीर्घस्वर निरानुनासिक / मौखिक स्वर  अनुनासिक स्वर
कंठ्य कंठ अ, आ अँ, आँ
तालव्य तालु (मुँह के भीतर की छत का पिछला भाग) इँ
मूर्धन्य मूर्धा (मुँह के भीतर की छत का अगला भाग)

कंठ + तालु ( कंठतालव्य )

ओष्ठ + कंठ ( कंठोष्ठय)

ए, ऐ

ओ, औ

ओष्ठ्य ओष्ठ / ओंठ
  1. व्यंजन

स्वरों की सहायता से बोले जाने वाले वर्ण व्यंजन कहलाते है। परंपरागत रूप से व्यंजनों की संख्या 33 मानी जाती है। 2 उत्क्षिप्त व्यंजन 4 संयुक्त व्यंजन 2 आगत व्यंजन जोड़ने पर इनकी संख्या 41 हो जाती है।

व्यंजनों का वर्गीकरण व उच्चारण स्थान

वर्ण नाम  उच्चारण स्थान  अघोष अल्पप्राण अघोष महाप्राण  सघोष अल्पप्राण सघोष महाप्राण सघोष अल्पप्राण नासिक्य
कंठ्य कंठ
तालव्य तालु (मुँह के भीतर की छत का पिछला भाग) ज ज़
मूर्धन्य मूर्धा (मुँह के भीतर की छत का अगला भाग) ढ ढ़
दंत्य ऊपरी दाँतों के निकट से
ओष्ठ्य दोनों ओठों से फ फ़
तालव्य तालु (मुँह के भीतर की छत का अगला भाग)
वत्स्र्य दंत + मसूड़ा (दांत मूल से) र, ल
दंत्योष्ठ्य ऊपर के दाँत  + निचला ओंठ
मूर्धन्य मूर्धा (भीतर की छत का अगला भाग)
स्वरयंत्रीय स्वर यंत्र (कंठ के भीतर स्थित)
उत्क्षिप्त जिनके उच्चारण में जीभ ऊपर उठकर झटके के साथ नीचे को आये।
  आगत / गृहीत ध्वनियाँ………          ……. स्पर्शी ख़, ग़ ज़, फ़ ………… (ऊष्म / संघर्षी)

अयोगवाह –                                 अनुस्वार (-), विसर्ग (:)

Download Hindi Pedagogy Study Notes PDF

CTET 2020