Hindi Quiz for 2016-17 Exams



Directions (1-10): नीचे दिए गए गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और उस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए।


शिवदत्त बुद्धिमान राजा था। एक दिन एक तपस्वी उसके राज्य में आया। राजा ने तपस्वी का सम्मान
कर नगर मंत्री मानसिंह को उसके ठहरने का प्रबंध करने की आज्ञा दी। तपस्वी को त्यागी एवं बलिदानी
मान कर अनेक सेठ-साहूकार उसे दक्षिणा में धन देने लगे।
काफी धन इकट्ठा होने पर तपस्वी ने धन को एक कलश में रखकर जंगल में एक पेड़ के नीचे दबा
दिया तथा उस पर निगरानी रखने लगा। कुछ समय पश्चात् जब वह जंगल गया तो देखा कोई उसका
धन चुरा ले गया। यह देख उसकी आँखों के आगे अंधेरा छाने लगा। उसने निश्चय किया कि मैं नदी तट
पर अपनी जान दे दूँगा।

यह बात जब राजा तक पहुँची, तो उसने दरबारियों को भेज तपस्वी को बुलवाया तथा समझाया कि तपस्वी
महाराज धन खो जाने पर मृत्यु-वरण अच्छा नहीं है। धन दौलत तो धूप-छाँह के समान है। उसके लिए
इतना शोक व्यर्थ है, पर तपस्वी अपनी बात पर अटल था।
तब राजा ने पूछा, “तपस्वी, आपने धन जहाँ रखा था, वहाँ की कोई निशानी बता सकते हैं”? तपस्वी बोला-
“महाराज मैंने वह धन जंगल में एक छोटे पेड़ के नीचे दबाया था। वही उसकी निशानी थी”। कुछ देर
विचार मग्न रहकर राजा बोला, “धीरज रखिए, धन आपको वापस मिल जाएगा। मरने का निश्चय छोड़
दीजिए”।
राजा शयनागार में सिर दर्द का बहाना करके लेट गया। नगर के वैद्य राजमहल में आते तथा उपचार
करके चले जाते। राजा प्रत्येक से एकान्त में एक ही प्रश्न पूछता- “नगर में आजकल किस बीमारी का
प्रकोप है? आपने किस बीमारी की कौन-सी दवा दी”? वैद्य राजा के प्रश्न का उत्तर देते तथा चले जाते।
एक वैद्य ने बताया, “मैंने अपने रोगी धनीराम को नागवाला बूटी खाने को कहा था”। यह सुनकर राजा ने
धनीराम को दरबार में बुलवाया, पूछने पर धनीराम ने बताया, मेरा नौकर रामू जंगल में जाकर नागवाला
बूटी लाया था। राजा ने नौकर को राजदरबार में हाजिर होने की आज्ञा दी।
आते ही राजा ने नौकर से कहा, “अपने मालिक के लिए जंगल से नागवाला बूटी उखाड़कर लाते समय जो
धन निकला है उसे तुरन्त ले आओ, नहीं तो अपने पाप का दण्ड पाने के लिए तैयार हो जाओ”। नौकर डर
से काँपने लगा। वह दौड़ा-दौड़ा घर गया तथा तपस्वी का धन लाकर राजा को सौंप दिया।
Q1. गद्यांश में प्रयुक्त वाक्यांश, ‘तपस्वी अपनी बात पर अटल रहा’, में किस बात की ओर संकेत किया
गया है?
(a) नौकर को दण्डित करने की
(b) राज्य में निवास न करने की
(c) जान न देने की
(d) नदी में डूब जाने की 
(e) इनमें से कोई नहीं
Q2. राजा ने तपस्वी को धन की खोज करके लौटाने का आश्वासन तुरन्त क्यों दे दिया?
(a) उसे अपने बुद्धि चातुर्य पर विश्वास था 
(b) वह तपस्वी की बात की परख करना चाहता था
(c) उसे राज कर्मचारियों की बुद्धि पर विश्वास था
(d) उसे अपने नगर के वैद्यों पर विश्वास था
(e) इनमें से कोई नहीं
Q3. तपस्वी ने अपना धन कहाँ छिपाया था?
(a) जंगल में 
(b) नदी के तट पर
(c) नगर मंत्री के घर में
(d) अपने घर में
(e) इनमें से कोई नहीं
Q4. तपस्वी ने राजा को धन छिपाने के स्थान पर कौन-सी निशानी बताई?
(a) जंगल
(b) नदी
(c) पेड़ 
(d) जड़ी-बूटी
(e) इनमें से कोई नहीं
Q5. तपस्वी का धन निम्नलिखित में से किस व्यक्ति ने वापस किया?
(a) मान सिंह
(b) धनीराम
(c) रामू 
(d) शिवदत्त
(e) इनमें से कोई नहीं
Q6. तपस्वी के धन को किसने चुराया था?
(a) वैद्य के नौकर ने
(b) रोगी के नौकर ने 
(c) राजकर्मचारियों ने
(d) नगर मंत्री ने
(e) इनमें से कोई नहीं
Q7. गद्यांश में धन-दौलत की तुलना किससे की गई है?
(a) जड़ी-बूटियाँ
(b) मृत्यु-वरण
(c) दान-दक्षिणा
(d) धूप-छाँह 
(e) इनमें से कोई नहीं
Q8. राजा ने सिर दर्द का बहाना क्यों किया?
(a) उसे नगर वैद्यों पर शक था
(b) उसे राज दरबारियों पर शक था
(c) वह जानता था कि इस कारण तपस्वी अपना व्रत तोड़ देगा 
(d) वह उस दौरान नगर में फैली बीमरियों तथा उपचारों का पता लगाना चाहता था
(e) इनमें से कोई नहीं
Q9. तपस्वी ने इतना धन कैसे या कहाँ से इकट्ठा किया था?
(a) राजदरबार से इनाम के रूप में
(b) जंगल में चोरों से
(c) राजदरबार से भेंट स्वरूप
(d) सेठ-साहूकारों द्वारा भेंट स्वरूप 
(e) इनमें से कोई नहीं
Q10. गद्यांश में प्रयुक्त ‘आँखों के आगे अंधेरा छाना’ से क्या तात्पर्य है?
(a) अचानक आँखों से रोशनी का चला जाना
(b) जमीन पर गिर पड़ना
(c) मृत्यु दिखाई देना
(d) जीवन अंधकारमय हो जाना 
(e) इनमें से कोई नहीं