Hindi Questions For CTET/KVS/DSSSB/UPTET Exam : 10th October 2018(Solutions)

हिंदी भाषा CTET परीक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है इस भाग को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है .बस आपको जरुरत है तो बस एकाग्रता की. ये खंड न सिर्फ CTET Exam (परीक्षा) में एहम भूमिका निभाता है अपितु दूसरी परीक्षाओं जैसे UPTET, KVS,NVS DSSSB आदि में भी रहता है, तो इस खंड में आपकी पकड़, आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकती है.TEACHERS ADDA आपके इस चुनौतीपूर्ण सफ़र में हर कदम पर आपके साथ है।
निर्देश ( प्रश्न 1-10): निम्नलिखित गद्यांश के आधार पर प्रश्नों के सही विकल्प चुनिये–
लेखक ने बताया है कि कितना अच्छा होता, यदि नाक होती ही नहीं। नाक के कारण मनुष्य चिंता में पड़कर परेशान रहता है। नाक बचाने के लिए मुकदमेबाजी में पड़ता है। ऋण लेकर बड़े-बड़े उत्सव करता है। दूसरों के मुकाबले में खड़ा होने के लिए महँगी किश्तों में टी.वी., फ्रिज और कूलर खरीदता है। बच्चों को महँगे स्कूलों में पढ़ाता है। कहने का अर्थ यह है कि वह हर छोटी-से-छोटी बात को नाक का प्रश्न बना लेता है। व्यापार करने वाले लोग पुलिस, आयकर अधिकारियों तथा अन्य अनेक लोगों को रिश्वत देते हैं। बुरा समय आने पर यही व्यक्ति दूसरों के समाने अपनी नाक को रगड़ने लगता है। लेखक ने नाक की अच्छाइयाँ भी बताई हैं। नाक का हमारे मुख पर बड़ा महत्व है। मुख पर सुंदर लंबी नाक शोभा बढ़ाती है। अत: कुछ लोग नाक न होने पर नाक लगाते हैं। अत: नाक हमारे लिए बहुत आवश्यक है। चाहे वह लंबी, छोटी, चपटी किसी भी प्रकार की हो। नाक के बिना मुनष्य का मुख ऐसा लगता है जैसे बिना छज्जे के मकान का सामने का हिस्सा। यदि नाक सुंदर है, तो वहुत अच्छी बात है। कवियों ने सुंदर नाक का वर्णन बहुत अधिक किया है। उन्होंने नायिकाओं के नाक की अनेकानेक उपमाएँ दी हैं। इन उपमानों में तोते की नाक की उपमा तो बड़ी विचित्र है।
नाक हमारे शरीर का सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण अंग है। यह बहुत ऊँचा अंग है। मुख पर किसी भी अंग की कमी या विकृति को छिपाया जा सकता है परंतु कटी नाक को किसी प्रकार से नहीं छिपाया जा सकता। नाक न रहने पर व्यक्ति कुरूपता का शिकार हो जाता है।
Q1. लेखक नाक न होने को अच्छा बताता है क्योंकि–
(a) नाक न होने पर मनुष्य अधिक सुंदर दिखता। 
(b) नाक न होने पर दुर्गन्ध के कारण परेशानी न उठानी पड़ती।
(c) नाक न होती तो लोग नाक बचाने के लिये लड़ाई-झगड़े न करते। 
(d) नाक न होती तो लोगों को जुकाम न होता। 
Q2. अनुच्छेद से पता चलता है कि नाक का सम्बन्ध–
(a) मुकदमेबाजी से है 
(b) मान-सम्मान से है
(c) सुन्दरता से हैं
(d) सांस लेने से है
Q3. “नाक रगड़ने से लेखक का आशय है—
(a) नाक को खुजलाना 
(b) प्रार्थना करना 
(c) किसी के प्रति सम्मान दिखाना
(d) मिन्नत करना 
Q4. लेखक ने नाक को महत्वपूर्ण बताया है क्योंकि—
(a) नाक के बिना चश्मा नहीं पहना जा सकता 
(b) नाक सुन्दरता की द्योतक है
(c) नाक न होने पर कवि नायिकाओं की उपमायें न दे पाते
(d) नाक के बिना व्यक्ति कुरूपता का शिकार हो जाता
Q5. “नाक के बिना मनुष्य का मुख ऐसा लगता है जैसे बिना छज्जे के मकान।”वाक्य में उपमेय तथा उपमान क्या हैं? 
(a) नाक, बिना छज्जे का मकान 
(b) नाक, मनुष्य का मुख 
(c) मनुष्य का मुख, बिना छज्जे का मकान
(d) नाक, मकान 
Q6. कुरूपता शब्द में उपसर्ग और प्रत्यय हैं। 
(a) कु, ता
(b) क, पता 
(c) कुर, ता
(d) क, त 
Q7. ‘अनेकानेक’ शब्द में कौन सा समास है?
(a) अव्ययीभाव समास 
(b) तत्पुरूष समास 
(c) बहुब्रीहि समास 
(d) द्वन्द्व समास 
Q8. ‘चाहे व लम्बी, छोटी, चपटी किसी भी प्रकार की हो।’ वाक्य में किस विशेषण का प्रयोग किया गया है? 
(a) संख्या वाचक विशेषण 
(b) गुणवाचक विशेषण
(c) परिमाणवाचक विशेषण 
(d) संकेतवाचक विशेषण 
Q9. प्रस्तुत गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक बताइये?
(a) नाक की सुन्दरता 
(b) नाक और प्रतिष्ठा 
(c) नाक की महत्ता 
(d) अगर नाक न होती 
Q10. नाक रगड़ना मुहावरे का अर्थ है?
(a) नाक की सुन्दरता 
(b) बहुत परेशान करना
(c) दुर्दशा करना
(d) गिड़गिड़ाना
उत्तरतालिका
S1. Ans.(c)
S2. Ans.(b)
S3. Ans.(d)
S4. Ans.(b)
S5. Ans.(a)
S6. Ans.(a)
S7. Ans.(a)
S8. Ans.(b)
S9. Ans.(d)
S10. Ans.(d)
You may also like to read