CTET 2020 Hindi Grammar Questions: 5th February 2020

Hindi Important Questions

Q.1. निम्न में से मिश्र वाक्य का चयन कीजिएः
(a) न रहेगा बाँस न बजे बाँसुरी।
(b) आम के आम गुठलियों के दाम।
(c) सवेरा होते ही वह बाल-बच्चों सहित यहाँ से चला गया।
(d) क्या उसे मालूम है कि तुम मुझे यहाँ लाए हो।

Q.2. निम्न में से संयुक्त वाक्य का चयन कीजिएः
(a) इन पड़ोसियों के आने से ही हमारे साथ उनके सम्बन्ध अच्छे नहीं रहे।
(b) जहाँ से भी संभव हो माँ के लिए अच्छा नौकर ला दो
(c) कोई भी परिस्थिति हो, मनुष्य को हिम्मत नहीं हारनी चाहिए।
(d) शहरों में जाओ तो वहाँ पूर्णतः पाश्चात्य सभ्यता का साम्राज्य है।

Q.3. वहाँ जाओ। यह वाक्य कौनसा हैं?
(a) निषेधात्मक
(b) प्रश्नसूचक
(c) आज्ञार्थक
(d) अनुरोधवाचक

Q.4. व्यवहार में वह बिल्कुल वैसा ही है जैसे उसके पिताजी। यह वाक्य कौनसा हैं?
(a) सरल वाक्य
(b) संयुक्त वाक्य
(c) मिश्र वाक्य
(d) इनमें से कोई नहीं

Q.5. सत्संग करो, सदाचारी बनो। यह वाक्य कौनसा हैं?
(a) इच्छावाचक
(b) आज्ञावाचक
(c) विधिवाचक
(d) संकेतवाचक

Q.6. प्रथम आने की कौन कहे उससे परीक्षा पास भी नहीं की जाती। यह वाक्य कौनसा हैं?
(a) कर्तृवाच्य
(b) आज्ञावाच्य
(c) भाववाच्य
(d) संयुक्त वाच्य

निर्देश (प्रश्न संख्या 7-10)- नीचे दिये गये गद्यांश को पढ़ कर इन प्रश्नों के उत्तर दीजिये-

कुछ महापुरुष तटस्थ होकर चिंतन करते हैं और अन्वीक्षण, चिंतन, मनन, विश्लेषण, संश्लेषण, आदि के आधार पर नई व्यवस्था की कल्पना करते हैं तथा नए मूल्यों, नए आदर्शों तथा नई आस्थाओं का सृजन करते हैं। नई व्यवस्था देने वाले ऐसे तटस्थ चिंतक धन्य होते हैं क्योंकि केवल आलोचना करते रहना तो सरल है किन्तु उपाय बताना कठिन है। माक्र्स ने कुछ उपाय बताए और लेनिन ने उन्हें मूर्त रूप दिया। रूसो, लास्की आदि ने भी उपाय बताए, उन्हें साकार करना अन्य पर निर्भर रहा। किन्तु कुछ महापुरुष और भी आगे बढ़ गए। उन्होंने केवल उपाय नहीं बताया बल्कि स्वयं एकनिष्ठा से उस पर आचरण करने के लिए जुट गए। महात्मा गाँधी ने जो समझा वहीं कहा, और जो कहा वहीं किया। उनके विचार, कथनी और करनी एक ही थे। उनका जीवन अपने सुझाए हुए उपायों और आदर्शों के आधार पर विहित प्रयोगों और अनुभवों की सजीव श्रृंखला है। महात्मा गांधी काल के प्रवाह के साथ नहीं बहे। ये युग प्रवर्तक हो गए। गांधी महान और अलौकिक पुरुष थे।

Q.7. शील गुण के कारण अधिकारियों और कर्मचारिेयों में
(a) मधुर एवं प्रगाढ़ संबंध स्थापित होता है
(b) कटुता एवं वैमनस्य स्थापित होता है
(c) परस्पर संदेह बढ़ता है
(d) स्नेह घटने लगता है

Q.8. शील गुण किस प्रकार अर्जित किया जा सकता है?
(a) मित्रों के साथ समय बिताने से
(b) प्रतिदिन नियमित व्यायाम से
(c) स्वयं के चिंतन, मनन, सत्संगति और सतत अभ्यास से
(d) ख्याली पुलाव पकाने से

Q.9. शील युक्त व्यवहार प्रत्येक व्यक्ति के लिए हितकर है, क्योंकि इससे
(a) बहुत अधिक संपत्ति मिलती है
(b) कटुता दूर होती है
(c) दीर्घ आयु प्राप्त होती है
(d) पुण्य प्राप्त होता है

Q.10. शीलवान व्यक्ति अपने संपर्क में आने वाले लोगों को कैसे प्रभावित करता है?
(a) साधन सुलभ कराने के द्वारा प्रभावित करता है
(b) लोगों का निस्वार्थ सवा द्वारा प्रभावित करता है
(c) सबा गर्मजाशी से स्वागत द्वारा प्रभावित करता है
(d) सुखद वातावरण के सृजन द्वारा प्रभावित करता ह

Solutions

S1. Ans.(d)
Sol. ‘क्या उसे मालूम है कि तुम मुझे यहाँ लाए हो।’ मिश्र वाक्य का उदाहरण है।

S2. Ans.(c)
Sol. जिन वाक्यों में दो या दो से अधिक सरल वाक्य समुच्चयबोधक अव्ययों से जुड़े हों उन्हें संयुक्त वाक्य कहते हैं, जैसे- ‘कोई भी परिस्थिति हो, मनुष्य को हिम्मत नहीं हारनी चाहिए।’

S3. Ans.(c)
Sol. जिन वाक्यों से ‘आज्ञा’ देने का बोध हो, उन्हें आज्ञार्थक वाक्य कहते हैं, जैसे- ‘वहाँ जाओ’
जिन वाक्यों से ‘प्रश्न’ पूछने का बोध हो, उन्हें प्रश्नवाचक वाक्य कहते हैं, जैसे- ‘रमेश कहाँ जाएगा?’

S4. Ans.(c)
Sol. ‘व्यवहार में वह बिल्कुल वैसा ही है जैसे उसके पिताजी।’ वाक्य ‘मिश्र वाक्य’ है।

S5. Ans.(b)
Sol. वाक्य, ‘सत्संग करो, सदाचारी बनो।’ ‘आजावाचक वाक्य’ है। जिन वाक्यों से इच्छा, शुभकामना आदि का ज्ञान हो, ‘इच्छावाचक वाक्य’ होते हैं, जैसे ‘तुम्हारा कल्याण हो।’

S6. Ans.(d)
Sol. ‘प्रथम आने की कौन कहे उससे तो परीक्षा भी पास नहीं होती।’ वाक्य ‘संयुक्त वाक्य’ है।

S7. Ans.(a)
Sol.

S8. Ans.(c)
Sol.

S9. Ans.(b)
Sol.

S10. Ans.(d)
Sol.

Get free Study Material for Teaching Exam

You may also like to read :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *